top of page

बंगाल के बाद उत्तर प्रदेश का विधानसभा चुनाव

बंगाल का खुमार उतर गया हो तो समझो। 2022 मे भाजपा को यूपी में हराने वाला कोई कद्दावर नेता नहीं है। मुस्लिम यादव और आंशिक युवा दलित वोट लेकर सपा सिर्फ 70 सीट ला सकती है। बची कुची हैसियत दे बसपा सिर्फ 50 सीट अधितम ला पायेगी। कांग्रेस हमेशा की तरह गर्त में है। एक भी प्रदेश स्तर का नेता नहीं है।


बंगाल में ममता और मोदी के बीच सीधी लडाई थी। यूपी में मोदी कार्ड की भी जरूरत नहीं है। ब्राह्मण वोट बसपा और सपा में बट के बेकार हो जायेगा। एलीट राजपूत कांग्रेस को वोट देंगे बांकी सब भाजपा को। मिडिल क्लास, सरकारी कर्मचारी पूरा भाजपा को वोट करेगा। हिंदू, मध्यमवर्गि महिला वोट भाजपा को जायेगा। राममंदिर, नक्सलवाद, पश्चिम यूपी के दंगे और कोई राष्ट्रीय खतरे का डर दिखा के भाजपा हिंदी काऊ बेल्ट को एक कर लेगी। इसकी जमीनी तैयारी शुरू हो गयी है।


विपक्ष मोदी पर हमले करता रहेगा। संघ राष्ट्रवादी हिंदुत्व के एजेंडे पर चुनाव निकाल लेगी।

Comments


bottom of page