J Rajaram

कहानीकार का परिचय

सन 1983 में ग्राम हँसवा ज़िला फ़तेहपुर उत्तर प्रदेश में जन्मे, जितेंद्र राजाराम वर्मा वर्तमान में इंदौर शहर के निवासी हैं। आप एक शोध संस्था “पर्सेक रिसर्च” में परियोजना प्रबंधक के रूप में कार्यरत हैं। साथ ही, इंदौर और भोपाल के कई महाविद्यालयों में बतौर अतिथि शिक्षक जुड़े हुए हैं। आपने कोरपोरेट ट्रेनर के रूप में भी कई संस्थानों के अभि-कर्मियों को प्रशिक्षित किया है। आपके द्वारा पढ़ने-पढ़ाने का ये सतत कार्य पिछले डेढ़ दशक से अनवरत जारी है।आपकी पहली किताब “माई वाइज़ कंट्रीमेन” अंग्रेज़ी भाषा में लिखी...

कहानीकार का परिचय
सन 1983 में ग्राम हँसवा ज़िला फ़तेहपुर उत्तर प्रदेश में जन्मे, जितेंद्र राजाराम वर्मा वर्तमान में इंदौर शहर के निवासी हैं। आप एक शोध संस्था “पर्सेक रिसर्च” में परियोजना प्रबंधक के रूप में कार्यरत हैं। साथ ही, इंदौर और भोपाल के कई महाविद्यालयों में बतौर अतिथि शिक्षक जुड़े हुए हैं। आपने कोरपोरेट ट्रेनर के रूप में भी कई संस्थानों के अभि-कर्मियों को प्रशिक्षित किया है। आपके द्वारा पढ़ने-पढ़ाने का ये सतत कार्य पिछले डेढ़ दशक से अनवरत जारी है।आपकी पहली किताब “माई वाइज़ कंट्रीमेन” अंग्रेज़ी भाषा में लिखी एक उपन्यास सन 2013 में प्रकाशित हुई थी। समाज और राजनीति के बीच आम जनता की आप बीती को व्यक्त करना आपके लेखिनी का केंद्र रहा है। आपकी लघु कथाएँ और निबंध www.jrajaram.com वेबसाइट पर पढ़ी जा सकती है।